नई दिल्ली : 40 करोड़ ग्राहकों का आंकड़ा छूने वाली रिलायंस जियो देश की पहली कंपनी बनी

नई दिल्ली, 13 अक्तूबर, 20 : रिलायंस जियो ने अपनी लॉन्चिंग के चार साल के भीतर ही 40 करोड़ ग्राहक जोड़ कर एक नया रिकॉर्ड कायम किया है। भारतीय दूरसचांर के इतिहास में इससे पहले 40 करोड़ ग्राहकों का आंकड़ा कोई भी कंपनी छू नही सकी थी। टेलीकॉम रेगुलेटरी अथॉरिटी ऑफ़ इंडिया यानी ट्राई द्वारा जारी रिपोर्ट के मुताबिक जुलाई में रिलायंस जियो ने 35 लाख से अधिक ग्राहक जोड़ कर यह मुकाम हासिल किया। दूरसंचार सेक्टर को शुरू हुए 25 वर्ष हो गए और पहले 40 करोड़ ग्राहक जोड़ने में सेक्टर को 14 वर्ष लगे थे। वहीं जियो ने यह काम 4 वर्ष से भी कम वक्त में कर दिखाया।

जियो की बाजार हिस्सेदारी भी बढ़ी
वायरलेस सब्सक्राइबर यानी भारत के मोबाइल कनेक्शन मार्किट में रिलायंस जियो 35.03 फीसदी ग्राहकों के साथ नंबर वन की पोजीशन पर बना हुआ है। भारती एयरटेल 27.96% और वोडाफोन आइडिया 26.34 फीसदी बाजार हिस्सेदारी के साथ दूसरे और तीसरे नंबर पर काबिज हैं। 10 फीसदी से अधिक की हिस्सेदारी के साथ बीएसएनएल चौथे नंबर पर है।

स्पीड में भी जियो अव्वल
रिलायंस जियो एक बार फिर औसत 4G डाउनलोड स्पीड में अव्वल साबित हुई है। टेलीकॉम रेगुलेटरी अथॉरिटी ऑफ इंडिया (TRAI) के सितंबर माह के आंकड़ों के मुताबिक जियो की औसत डाउनलोड स्पीड 19.3 एमबीपीएस मापी गई। यह स्पीड पिछले माह अगस्त के मुकाबले 3.4 एमबीपीएस अधिक है। पिछले तीन वर्षों से रिलायंस जियो डाउनलोड स्पीड के मामले में लगातार नंबर वन 4जी ऑपरेटर बना हुआ है। रिलायंस जियो की स्पीड बाकी दिग्गज कंपनियों के मुकाबले 2 से 2.5 गुना अधिक है। सितंबर में एयरटेल, वोडाफोन और आइडिया की 4जी डाउनलोड स्पीड क्रमश: 7.5, 7.9 और 8.6 एमबीपीएस रही। अपलोड स्पीड में वोडाफोन अव्वल रहा।

वोडा-आइडिया को हुआ भारी नुकासान
देश की दिग्गज कंपनी वोडा-आइडिया को जुलाई माह में एक बार फिर भारी नुकासान हुआ है। जून के मुकाबले जुलाई में 37 लाख 26 हजार ग्राहक वोडा-आइडिया का नेटवर्क छोड़ कर चले गए। 30.13 करोड़ यूजर्स के साथ वह मार्किट में तीसरे नंबर पर है। कई महीने बाद भारती एयरटेल ने नए यूजर्स जोड़े हैं । जुलाई में एयटले के नेटवर्क से 32 लाख से अधिक ग्राहक जुड़े।

पांच महीने बाद बढ़े मोबाइल कनेक्शन
ट्राई के आंकड़े बताते हैं कि जुलाई में मोबाइल कनेक्शन के आंकड़े बढ़े। इससे पहले 5 महीनों में यह लगातार गिर रहे थे। लॉकडाउन का असर दूरसंचार क्षेत्र में भी देखने को मिला था। जुलाई में मोबाइल के कुल कनेक्शन बढ़ कर 114.4 करोड़ हो गए जो जून में करीब 114 करोड़ थे। ग्रामीण और शहरी क्षेत्रों में मोबाइल कनेक्शन के नंबर लगातार करीब आते जा रहे हैं। शहरी क्षेत्रों में मोबाइल कनेक्शन संख्या 62 करोड़ और ग्रामीण क्षेत्रों में 52.3 करोड़ रही।

Live Cricket Live Share Market
[elfsight_youtube_gallery id="3"]

जवाब जरूर दे 

आप अपने सहर के वर्तमान बिधायक के कार्यों से कितना संतुष्ट है ?

View Results

Loading ... Loading ...

Related Articles

Back to top button
Close
Close